Beautiful Prem Bhari Romantic Shayri

प्रेम भरी शायरी | हमसे मोहब्बत कर लो

आपको चाहना आदत है हमारी,
आपका साथ पाना चाहत है हमारी,
आपको हर ख़ुशी दे सकूँ बस इतनी इच्छा रखते हैं,
आपको अपनी बाँहों में भरकर आपके आंसू पौंछ सकूँ बस यही चाहते हैं।

उम्र भर आपका साथ निभाना चाहते हैं,
मर कर भी आपके दर्दो की दवा बनना चाहते हैं।
हर जन्म में आपका साथ मिल जाये,
आपके ग़मों को अपनाकर हम आपको ख़ुशी दे पाएँ,
बस एहि चाहत रखते हैं,
दिल-ओ-जान से हम तुम्हें चाहते हैं।

क्या हुआ जो कोई तेरे साथ नहीं,
हम तेरा साथ देंगे कहीं,
कभी तुझे अकेला छोड़ ना देंगे,
ज़रुरत पड़ी तो खुद को जलाकर तेरे जीवन में रौशनी कर जायेंगे,
पर ऐ जान उम्र भर तेरा साथ निभाएंगे।

बस हमारी चाहत पर यकीन कर लो,
ऐ यार तुम भी हमसे मोहब्बत कर लो।

हिन्दी में मोहब्बत की शायरी | प्यार क्या है हम नहीं जानते

ऐ यार प्यार क्या है, ये तो हम नहीं
जानते,पर हमें ,तेरे बिना हम जी नहीं सकते।
तेरी आवाज़ सुनते ही, मेरी धड़कनें तेज़ हो जाती हैं,
उन आवाज़ों के बंद होने से मेरी धड़कने थम सी जाती हैं।

तुझसे जुदा होने के ख्याल से भी डरते है दिल,
तन्हाई में हर पल तेरी ही यादें संजोता है दिल,
ांहो में हर पल बस तेरा ही चेहरा रहता है,
लबों पर हर वक़्त बस तेरा ही नाम होता है।

ऐ यार प्यार क्या है, ये तो हम नहीं जानते –
पर हाँ हर बार दिल धड़कने से पहले हम तुझे याद करते हैं,
दिल ही दिल में हम तुम्हारी पूजा करते हैं।
ऐ यार प्यार क्या है, ये तो हम नहीं जानते –
पर हाँ खुद से भी ज्यादा अब हम तुम्हे सोचते हैं,
हर पल हम बस तेरा ही साथ चाहते हैं।

अगर इस सबको ही प्यार कहते हैं –
तो आज हम इकरार करते हैं, ऐ यार हम तुम्हे चाहते हैं,
दिल और जान से हम तुमपर मरते हैं,
तेरे साथ ही हम हँसते और रट हैं,
आज हम इकरार करते हैं – ऐ यार हम तुमसे प्यार कटे हैं,
हम तो बस तेरे लिए ही जीते हैं, मरते हैं।

Sad

My Sad Shayari in Hindi for Life

चारों तरफ़ है आदमी आपस में वो अंजान है
घर से निकल के क्या करें बाहर समाँ वीरान है
क़ुदरत ख़ुदा की बैठी आँसू बहा रही है
लूटा है इसको जिसने वो भी यही इन्सान है।

दिल है उदास और इन आँखों में नमी क्यों
ख़ुद में है कमी ढूँढते औरों में कमी क्यों
क्यों ज़ोर इस दिमाग़ पर देकर हो सोचते
औरों के लिए आसमाँ मुझको ये ग़मी क्यों?

एक रोज़ ख़ुशी का आलम था आबाद हमारी दुनियाँ थी
और आज उसी दुनियाँ को हम आँसू में बहाये जाते हैं
हमदम भी मिला हमसफ़र बना दामन में हमारे ख़ुशियाँ थी
और आज उन्ही ख़ुशियों को हम एक क़फ़न उढाये जाते हैं।